Competition Community

दोपहर समाचार- 14:15 HRS(19.08.2019)

admin All, ALL INDIA RADIO

जम्‍मू कश्‍मीर के जम्‍मू डिवीजन में स्थिति पूरी तरह सामान्‍य हो गई है
  • जम्‍मू डिवीजन में सभी शैक्षणिक संस्थान और व्यावसायिक प्रतिष्ठान सामान्‍य रूप से काम कर रहे हैं। कश्मीर घाटी के कई हिस्सों में स्कूल फिर से खुले।
  • उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा – मेक इन इंडिया कार्यक्रम के अन्तर्गत लिथुआनिया भारत का महत्‍वपूर्ण साझेदार बन सकता है।
  • उच्‍चतम न्‍यायालय ने सीबीआई को उन्नाव दुष्कर्म मामले की पीडि़ता और उसके वकील की सड़क दुर्घटना की जांच पूरी करने के लिए दो सप्‍ताह का और समय दिया।
  • शीर्ष अदालत ने तहलका पत्रिका के संस्थापक तरुण तेजपाल की याचिका खारिज की। तेजपाल ने याचिका में कथित यौन उत्पीड़न मामले में आरोपों को रद्द करने की मांग की थी।
  • और बैडमिंटन में बी.डब्‍ल्‍यू.एफ. विश्‍व चैम्पियनशिप आज से स्विट्ज़रलैण्‍ड में शुरू। भारत के बी0 साई प्रणीत और एच एस प्रणॅय अपना पहला मैच खेलेंगे।

मुख्य समाचार


जम्‍मू कश्‍मीर के जम्‍मू डिवीजन में स्थिति पूरी तरह सामान्‍य हो गई है और सभी शिक्षा संस्‍थान खुल गये हैं। व्‍यापारिक प्रतिष्‍ठान आम दिनों की तरह काम कर रहे हैं। रामबन जिले में बनिहाल सब-डिवीजन को छोड़कर अन्‍य सभी जगहों में प्राथमिक, माध्‍यमिक और उच्‍चतर माध्‍यमिक स्‍कूल आज से फिर खुल गये हैं।

कश्‍मीर घाटी के कई हिस्‍सों में भी प्रतिबंधों में छूट दिये जाने पर आज स्‍कूल खुले और शिक्षकों ने अपनी हाजिरी लगाई। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार श्रीनगर शहर के 190 प्राथमिक स्‍कूलों में सभी जरूरी बंदोबस्‍त किये गये हैं। बारामूला जिले के अधिकारियों ने बताया कि कुछ कस्‍बों में स्‍कूल आज बंद रहे, लेकिन जिले के शेष भागों में स्‍कूल खुल गये।

इस बीच, समूचे जम्‍मू डिवीजन में तकनीकी गड़बड़ी के कारण मोबाइल इंटरनेट सेवाएं काम नहीं कर रही हैं। जम्‍मू के डिवीजन आयुक्‍त संजीव वर्मा के अनुसार जल्‍दी ही ये सेवाएं बहाल कर दी जाएंगी।

घाटी में मोबाइल फोन सेवाओं की बहाली के मुद्दे पर, सरकारी प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा कि श्रीनगर के कई इलाकों में लैंडलाइन टेलीफोन सेवाएं बहाल कर दी गई हैं क्योंकि दूरसंचार मानचित्र पर अधिक क्षेत्रों को लाने की प्रक्रिया चल रही है।

हम लैंडलाइन टेलीफोन सेवाओं को जल्द से जल्द पूरी तरह से बहाल करने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे। यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि बी एस एन एल की क्‍या सीमाएं हैं और इसके सामने किस तरह की तकनीकी कठिनाईयां आ सकती हैं।

पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह और डिवीजन आयुक्‍त ने लोगों से अपील की है कि वे कुछ स्‍वार्थी तत्‍वों द्वारा फैलाई जा रही निराधार और भ्रामक अफवाहों पर ध्‍यान न दें। उन्‍होंने चेतावनी दी है कि अफवाहें फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत और भूटान अपने नागरिकों की समृद्धि के लिए सहज स्‍वाभाविक साझेदार है। थिम्‍पू में रॉयल यूनिवर्सिटी ऑफ भूटान के छात्रों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के लोगों के बीच प्रगाढ़ संबंध केवल भौगोलिक निकटता की वजह से नहीं बल्कि साझा, ऐतिहासिक, सांस्‍कृतिक और आध्‍यात्मिक मूल्‍यों के कारण भी हैं। दोनों देशों के बीच अंतरिक्ष अनुसंधान, उड्डयन, सूचना प्रौद्योगिकी, बिजली और शिक्षा क्षेत्र में दस समझौतों पर हस्‍ताक्षर हुए।


उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि लिथुआनिया और भारत मेक इन इंडिया कार्यक्रम में महत्‍वपूर्ण तकनीकी साझेदार बन सकते हैं। आज वि‍लनियस में भारत-लिथुआनिया व्‍यापार मंच को संबोधित करते हुए श्री नायडु ने कहा कि लिथुआनिया भारत की मेक इन इंडिया पहल का जोरदार स्‍वागत करता है।

कल लिथुआनिया की राजधानी विलनियस में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए श्री नायडू ने दोनों देशों के लोगों से आर्थिक और सांस्‍कृतिक संबंधों को मजबूत करने में सेतु के रूप में कार्य करने का आह्वान किया था। उपराष्‍ट्रपति तीन देशों – लिथुआनिया, लातविया और स्‍टोनिया की पांच दिन की यात्रा पर हैं।


ऑस्‍ट्रेलिया के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज नई दिल्‍ली में सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत से मुलाकात की। इस अवसर पर भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच दिव्‍यांगता के क्षेत्र में पिछले वर्ष नवम्‍बर में हुए समझौते के क्रियान्‍वयन के बारे में चर्चा की गई। समझौते में दिव्‍यांगता नीति, इससे जुड़ी सेवायें दिव्‍यांगजनों तक पहुंचाने, शिक्षा और प्रशिक्षण पर ध्‍यान केन्द्रित किया गया है। प्रतिनिधिमंडल में शामिल ऑस्‍ट्रेलिया-भारत संस्‍थान के निदेशक तथा मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी प्रोफेसर क्रेग जेफरी तथा अन्‍य सदस्‍यों ने समेकित विकास पाठयक्रम और संयुक्‍त नेतृत्‍व विकास कार्यक्रम के संबंध में पाठ्यक्रम बनाने पर चर्चा की। इस बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में थावरचंद गहलोत ने कहा कि इस समझौता ज्ञापन के माध्‍यम से दोनों देशों की सरकारें दिव्‍यांगजनों के कल्‍याण और उनके हितों के संरक्षण की दिशा में आगे कदम उठाएंगी।

ऑस्‍ट्रेलियन गवरमेंट और भारत सरकार के बीच में दिव्‍यांगजनों को लेकर के एक एम ओ यू हुआ था और मुझे उम्‍मीद है इस एम ओ यू से ऑस्‍ट्रेलिया और भारत की सरकार दिव्‍यांजनों का हित संरक्षण करने की दिशा में अग्रसर होगी और दोनों देशों को इसका लाभ मिलेगा।


विदेश मंत्री एस जयशंकर तीन दिन की बांग्‍लादेश की यात्रा पर आज रात ढाका पहुंचेंगे। वे कल बांग्‍लादेश के विदेश मंत्री डॉक्‍टर ए के अब्‍दुल मोमिन के साथ बैठक करेंगे। उनका कल प्रधानमंत्री शेख हसीना से भी मिलने का कार्यक्रम है।

भारत और बांग्‍लादेश के बीच काफी अच्‍छे द्विपक्षीय संबंध हैं। विदेश मंत्री की बांग्‍लादेश यात्रा के दौरान दोनों नेताओं के बीच आपसी महत्‍व के कई मुद्दों पर बातचीत होने की संभावना है।


उच्‍चतम न्‍यायालय ने उत्‍तरप्रदेश में हुई सड़क दुर्घटना मामले की जांच पूरी करने के लिए सीबीआई को दो सप्‍ताह का और समय दिया है। इस घटना में उन्‍नाव दुष्‍कर्म पीडि़ता और उसके वकील को गंभीर चोटें आई थीं। पीठ ने उत्‍तरप्रदेश सरकार को गंभीर रूप से घायल वकील को पांच लाख रूपये देने का निर्देश भी दिया।


उच्‍चतम न्‍यायालय ने तहलका पत्रिका के संस्‍थापक तरूण तेजपाल की उस याचिका को खारिज कर दिया है जिसमें उन्‍होंने अपने खिलाफ दाखिल आरोप पत्र को खारिज करने की मांग की थी। तरूण तेजपाल की एक पूर्व महिला सहकर्मी ने उनके खिलाफ यौन उत्‍पीड़न का मामला दर्ज कराया था।

न्‍यायमूर्ति अरूण मिश्रा की अध्‍यक्षता वाली खंडपीठ ने गोवा की निचली अदालत से छह महीने के भीतर तेजपाल के विरूद्ध दर्ज मामले की सुनवाई पूरी करने को कहा है।

उच्‍चतम न्‍यायालय में रामजन्‍म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में पांच न्‍यायाधीशों की पीठ में शामिल एक न्‍यायाधीश न्‍यायमूर्ति एस ए बोबड़े के अनुपस्थित रहने के कारण आज सुनवाई नहीं हो सकी। प्रधान न्‍यायाधीश रंजन गोगोई की अध्‍यक्षता वाली संविधान पीठ को आज आठवें दिन वरिष्‍ठ वकील सी एस वैद्यनाथन की बहस पर सुनवाई करनी थी।


गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि सरकार पूर्वोत्‍तर क्षेत्र के विकास की दिशा में ठोस उपाय कर रही है। उन्‍होंने कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्‍य इस क्षेत्र का समग्र विकास सुनिश्चित करने के साथ ही उसकी अनूठी पहचान बनाए रखना भी है।

नॉर्थ ईस्‍ट का सर्वांगीण विकास, वहां शांति भी होनी चाहिए, समृद्धि भी होनी चाहिए, विकास सद्भाव में पहुंचना चाहिए और नॉर्थ ईस्‍ट की पहचान को भी बना के रखना ये भारतीय जनता पार्टी की नरेन्‍द्र मोदी सरकार का लक्ष्‍य है। हमारे प्रधानमंत्री जी का लक्ष्‍य है।


बिहार के वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्‍यमंत्री डॉक्‍टर जगननाथ मिश्रा का आज दिल्‍ली के एक अस्‍पताल में निधन हो गया। वे 82 वर्ष के थे। डॉक्‍टर मिश्रा 1975 , 1980 और 1989 में राज्‍य के मुख्‍यमंत्री बने थे। वे केन्‍द्र की नरसिम्‍हा राव सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं।

बिहार के राज्‍यपाल फागु चौहान और मुख्‍यमंत्री नितीश कुमार ने उनके निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है। राज्‍य सरकार ने तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।


राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज राष्‍ट्रपति भवन में पूर्व राष्‍ट्रपति डॉक्‍टर शंकर दयाल शर्मा की जयंती पर उन्‍हें पुष्‍पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर राष्‍ट्रपति भवन के अधिकारियों, कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्‍यों ने भी डॉक्‍टर शंकर दयाल शर्मा को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।


एक बार में तीन तलाक देने की प्रथा समाप्‍त किये जाने का केन्‍द्र का फैसला मुस्लिम महिलाओं के लिए नया सवेरा लाया है। प्रधानमंत्री ने लाल किले के प्राचीर से राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में इस बात का जिक्र किया कि मुस्लिम महिलाओं को इंसाफ दिलाना उनकी सरकार का संकल्‍प था। एक बार में तीन तलाक की प्रथा के कारण बहुत सी महिलाएं इसका शिकार बनी। पेश है हमारे कोलकाता संवाददाता की रिपोर्ट—

एक साथ तीन तलाक देने की प्रथा समाप्‍त किये जाने से मुस्लिम महिलाओं में सुरक्षा की भावना पैदा हुई है। सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले से इन महिलाओं में तलाक का डर खत्‍म हो गया है। एक महिला ने आकाशवाणी के साथ बातचीत में अपनी खुशी का इजहार किया।

मेरा नाम सबीना सैय्यद है और मैं कोलकाता से हूं। मैं राजनीति शास्त्र की अध्यापिका और सामाजिक कार्यकर्ता हूँ। मुस्लिम महिलाएं हमेशा तीन तलाक़ के डर में जीती रही हैं और मैंने कभी तीन तलाक की कुप्रथा का समर्थन नहीं किया है।

एक साथ तीन तलाक में रोक लगाने का विधेयक संसद में पारित होने के बाद इससे जुड़े मामले भी जल्‍दी से जल्‍दी सुलझाये जायेंगे। कोलकाता से अर्जित चक्रवर्ती की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से निखिल कुमार।


बी.डब्‍ल्‍यू.एफ. विश्‍व बैडमिंटन चैम्पियनशिप आज से स्विट्ज़रलैण्‍ड के बासेल में शुरू हो रही है। आज बी. साई प्रणीत का मुकाबला कनाडा के जेसन एंटनी से और एच.एस. प्रणॅय का सामना फिनलैंड के ऐतू अन्‍ती ओस्‍कारी से होगा। महिला वर्ग में पी.वी. सिंधु को पहले दौर में बाई मिली है।


देश के कई भागों में भारी वर्षा जारी है। कल हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखण्‍ड और पंजाब में वर्षा से जुड़ी घटनाओं में 35 लोगों की मृत्‍यु हो गई। दिल्‍ली, हरियाणा, पंजाब और उत्‍तर प्रदेश में यमुना और अन्‍य नदियां उफान पर हैं और बाढ़ की चेतावनी जारी की गई है।

लखनऊ से हमारे संवाददाता ने बताया है कि उत्‍तर प्रदेश में कई जिलों में जलस्‍तर बढ़ने से किसानों की फसलें डूब गई हैं।

गंगा नदी बदायूं जनपद में कचला घाट पर खतरे के निशान से ऊपर है और फर्रुखाबाद के फतेहगढ़ में यह लाल निशान के करीब बह रही है। शारदा नदी लखीमपुर खीरी में पलियां कला और घाघरा बारा‍बंकी के एलगीर ब्रिज पर खतरे के निशान को पार कर गई है। वहीं घाघरा का पानी अयोध्‍या और बलिया के टूटीपार में खतरे के निशान से पचास सेंटीमीटर नीचे बह रहा है। आगरा और इटावा में चंबल नदी भी खतरे के निशान के करीब पहुंच गई है। वहीं यमुना नदी औरैया और हमीरपूर जनपद में खतरे के निशान के पास बह रही हैं। यहां जिला प्रशासन ने बाढ़ की आशंका को देखते हुए अलर्ट जारी किया है। एम एस यादव आकाशवाणी समाचार लखनऊ।

उधर, तमिलनाडु में चेन्‍नई के कई स्‍थान और आसपास के इलाके वर्षा से प्रभावित हैं। मौसम विभाग ने अगले दो दिन में और अधिक वर्षा का अनुमान व्‍यक्‍त किया है।


हिमाचल प्रदेश में लाहौल और स्‍पीति जिले में ताजा बर्फबारी से चन्‍द्रताल झील के काजा कस्‍बे के पास डेढ़ सौ पर्यटक फंसे हुए हैं। यह झील हिमालय क्षेत्र में 14 हजार एक सौ फुट की ऊंचाई पर स्थित है। हमारी संवाददाता ने बताया है कि बचाव दल भेजा गया है लेकिन खराब मौसम के कारण पर्यटकों को अभी निकाला नहीं जा सका है।

प्रदेश के जनजातीय इलाके लाहौल स्‍पीति में असमय बर्फबारी के कारण अब भी सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं। चन्‍द्रभागा नदी का जलस्‍तर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। जहां एक और चंबा, लाहौल स्‍पीति शिमला के ऊपरी इलाकों व हमीरपुर में वर्षा का दौर अब भी जारी है। वहीं शेष राज्‍यों में मौसम में कुछ सुधार हुआ है। व्‍यास नदी का जलस्‍तर घटने के बाद कुल्‍लू-मंडी के बीच यातायात को छोटी गाडि़यों के लिए बहाल कर दिया गया है। इस बीच प्रदेश के मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर स्थिति का जायजा लिया है और उपायुक्‍तों को स्थिति से निपटने के आदेश जारी किये हैं। नंदिनी मित्‍तल, आकाशवाणी समाचार, शिमला।


उत्‍तराखंड के उत्‍तरकाशी जिले में बादल फटने के कारण मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 10 हो गई है। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार अब तक आठ शव मिल चुके हैं। छह लोग अब भी लापता हैं। जिले के आराकोट, मोरी और तोकोची इलाके में कई मकान ध्‍वस्‍त हो गये हैं। राहत कार्य जारी है।

Source by: ALL INDIA RADIO

You May Also Like..

आरबीआई ने रेपो रेट को अपरिवर्तित 5.15% रखा

अभ्यर्थी संकलन (06 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 451.7 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा 3 दिसम्बर को समाप्त हुए […]

अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस

अभ्यर्थी संकलन (04 December 2019)

छत्तीसगढ़ समसामयिक छत्तीसगढ़ के गरीबी दर में 2.1 फीसदी की बढ़ोतरी एनएसओ (NSO) के सर्वे अध्ययन के अनुसार साल 2011-12 […]

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित

अभ्यर्थी संकलन (03 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित संसद ने 02 दिसंबर 2019 को इलेक्‍ट्रानिक सिगरेट निषेध विधेयक- 2019 पारित कर […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *