Competition Community

अभ्यर्थी संकलन (02 September 2019)

admin Abhiyarthi Sankalan, All

छत्तीसगढ़ समसामयिक

सुपोषण के मामले में केंद्र सरकार के उच्च फोकस में छत्तीसगढ़

सुपोषण के मामले में छत्तीसगढ़ केंद्र सरकार के उच्च फोकस वाले राज्यों की सूची में शामिल है। वजह यह है कि राज्य निर्माण के समय यहां कुपोषण की दर करीब 47 फीसद से अधिक थी। हालांकि अब स्थिति बदली है, लेकिन अब भी राज्य में कुपोषण की स्थिति चिंताजनक है।

2018 में यहां 37.7 फीसद बच्चे कुपोषित मिले तो लगभग इतने ही छोटे कद के पाए गए। यही वजह है कि राज्य और केंद्र सरकार ने राज्य को सुपोषित बनाने के लिए पूरी ताकत लगा रखी है। दोनों सरकारों ने बीते 10 वर्षों में कुपोषण की जंग में 3181.58 लाख रुपये खर्च कर चुके हैं।

सुपोषण के मामले में केंद्र सरकार के उच्च फोकस में छत्तीसगढ़

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक

पांच राज्यों में नए राज्यपाल की नियुक्ति

केंद्र सरकार ने हाल ही में पांच राज्यों में नए राज्यपाल की नियुक्ति की है. सरकार के नए फैसले के अनुसार, राजस्थान, महाराष्ट्र, केरल, हिमाचल प्रदेश और तेलंगाना के राज्यपालों को नियुक्त किया गया है. नए राज्यपालों के पदभार ग्रहण के बाद उनकी नियुक्ति प्रभावी मानी जाएगी.

इस बदलाव के तहत अब तक हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल रहे कलराज मिश्रा को राजस्थान का राज्यपाल बनाया गया है. बंडारू दत्तात्रेय को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया है. भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र का राज्यपाल बनाया गया है. आरिफ खान को केरल का राज्यपाल बनाया गया है. तमिलसाईं सौंदर्याराजन को तेलंगाना का राज्यपाल बनाया गया है.

इस बदलाव के तहत अब तक हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल रहे कलराज मिश्रा को राजस्थान का राज्यपाल बनाया गया है. बंडारू दत्तात्रेय को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया है. भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र का राज्यपाल बनाया गया है. आरिफ खान को केरल का राज्यपाल बनाया गया है. तमिलसाईं सौंदर्याराजन को तेलंगाना का राज्यपाल बनाया गया है.

इलेक्टर वेरिफिकेशन प्रोग्राम

निर्वाचन आयोग ने 01 सितंबर 2019 को पूरे देश में ‘इलेक्‍टर वेरिफिकेशन प्रोग्राम’ (EVP) लॉन्च किया है. निर्वाचन आयोग ने मतदाता विवरणों को सत्यापित और प्रमाणित करने के लिए वन स्टॉप सॉल्यूशन का शुभारंभ किया है। जिसका मुख्‍य उद्देश्‍य मतदाता सूची को बेहतर बनाना है, नागरिकों को बेहतर मतदात सेवाएं प्रदान करना है तथा आयोग तथा मतदाताओं के बीच संवाद को बेहतर बनाना है.

इस कार्यक्रम को 32 सीईओ ने राज्‍यों/केंद्र शासित प्रदेशों में, 700 डीईओ ने जिलों में और करीब 10 लाख मतदान केंद्रों में बीएलओ/ईआरओ ने देश में सभी स्‍तरों पर शुरुआत की है. यह कार्यक्रम 01 सितंबर 2019 से 15 अक्‍टूबर 2019 तक चलेगा.

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार 2019

गगन नारंग तथा पवन सिंह को राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार 2019 से सम्मानित किया गया। उन्हें यह सम्मान गगन नारंग स्पोर्ट्स प्रमोशन फाउंडेशन के द्वारा किये गये कार्य के लिए दिया गया है। 2011 में गगन नारंग और पवन सिंह ने गगन नारंग स्पोर्ट्स प्रमोशन फाउंडेशन की शुरुआत की थी, यह संस्थान युवा निशानेबाजों को प्रशिक्षण प्रदान करती है।

You May Also Like..

आरबीआई ने रेपो रेट को अपरिवर्तित 5.15% रखा

अभ्यर्थी संकलन (06 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 451.7 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा 3 दिसम्बर को समाप्त हुए […]

अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस

अभ्यर्थी संकलन (04 December 2019)

छत्तीसगढ़ समसामयिक छत्तीसगढ़ के गरीबी दर में 2.1 फीसदी की बढ़ोतरी एनएसओ (NSO) के सर्वे अध्ययन के अनुसार साल 2011-12 […]

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित

अभ्यर्थी संकलन (03 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित संसद ने 02 दिसंबर 2019 को इलेक्‍ट्रानिक सिगरेट निषेध विधेयक- 2019 पारित कर […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *