Competition Community

अभ्यर्थी संकलन (10 September 2019)

admin Abhiyarthi Sankalan, All

छत्तीसगढ़ समसामयिक

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सजेगी विष्णुभोग और कोदो-कुटकी की दुकान

छत्तीसगढ़ के कृषि उत्पादों में विशिष्ट पहचान बना चुके धान, लाल चावल, काला चावल, आर्गेनिक विष्णुभोग चावल समेत सुगंधित धान की पारंपरिक किस्में व कोदो, कुटकी, रागी जैसी पारंपरिक और बहुमूल्य फसलों की पहचान अब देश भर में ही नहीं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय मार्केट में भी बनेगी।

राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापार को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से 20 से 22 सितंबर 2019 के मध्य रायपुर के निजी होटल में अंतरराष्ट्रीय क्रेता-विक्रेताओं का सम्मेलन का आयोजन छग राज्य कृषि उपज मंडी द्वारा किया जा रहा है। इस सम्मेलन में छत्तीसगढ़ की कृषि उपज, वनोपज, हैण्डलूम कोसा इत्यादि उत्पादों के प्रोत्साहन एवं विक्रय को बढ़ावा देने के लिए 16 देशों के अंतरराष्ट्रीय स्तर के लगभग 60 क्रेता एवं देश के अन्य प्रदेशों से लगभग 60 क्रेताओं तथा प्रदेश से लगभग 120 विक्रेताओं भाग लेंगे।

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक

किसान मन-धन योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 सितंबर 2019 को रांची, झारखंड से किसान मन-धन योजना की शुरुआत करेंगे. इस योजना के अंतर्गत 60 वर्ष की आयु के पांच करोड़ छोटे और सीमांत किसानों को कम से कम 3,000 रुपये प्रतिमाह की पेंशन उपलब्‍ध कराई जाएगी.

केंद्र सरकार का इस योजना के पीछे मुख्य उदेश्य वृद्ध किसानों के जीवन को सुरक्षित करना है. इस योजना हेतु अगले तीन साल में करीब 10,774 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. इस योजना की शुभारंभ से पहले ही बड़ी संख्या में किसानों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है.

NASA report on pollution in Chhattisgarh

राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 11 सितंबर 2019 को उत्तर प्रदेश के मथुरा से ‘राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण’ कार्यक्रम को लॉन्च करेंगे. इस कदम का मुख्य उद्देश्य किसानों को सशक्त बनाना तथा उनकी आय को दोगुना करना है।

केन्द्र सरकार द्वारा शत-प्रतिशत वित्त पोषण के 12,652 करोड़ रुपये की लागत वाले इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य 500 मिलियन से अधिक पशुधन का टीकाकरण है. इसके अंतर्गत गाय, भैंस, भेड़, बकरी और सूअर को मुखपका-खुरपका रोग से बचाना है.

राष्ट्रीय पोषण माह

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने घोषणा की है कि सितम्बर 2019 को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा, इसका उद्देश्य देश में कुपोषण की समस्या को समाप्त करना है। इसकी घोषणा प्रधानमंत्री मोदी ने “मन की बात कार्यक्रम के दौरान की। इस अभियान को महीने भर चलाया जायेगा, इस अभियान का उद्देश्य ‘हर घर पोषण त्यौहार का सन्देश पहुँचाना है।

इसका आयोजन संयुक्त रूप से नीति आयोग, महिला व बाल विकास मंत्रालय, स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय, ग्रामीण विकास मंत्रालय, पेयजल व स्वच्छता मंत्रलाय, आवास व शहरी मामले मंत्रालय, अल्पसंख्यक मामले मंत्रालय, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, सूचना व प्रसारण मंत्रालय, उपभोक्ता मामले मंत्रालय, जनजातीय मामले मंत्रालय तथा आयुष मंत्रालय द्वारा द्वारा किया जा रहा है।

You May Also Like..

आरबीआई ने रेपो रेट को अपरिवर्तित 5.15% रखा

अभ्यर्थी संकलन (06 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 451.7 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा 3 दिसम्बर को समाप्त हुए […]

अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस

अभ्यर्थी संकलन (04 December 2019)

छत्तीसगढ़ समसामयिक छत्तीसगढ़ के गरीबी दर में 2.1 फीसदी की बढ़ोतरी एनएसओ (NSO) के सर्वे अध्ययन के अनुसार साल 2011-12 […]

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित

अभ्यर्थी संकलन (03 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित संसद ने 02 दिसंबर 2019 को इलेक्‍ट्रानिक सिगरेट निषेध विधेयक- 2019 पारित कर […]

2 Comments

  1. Thank u sir it is very useful for us I m prefer dainik bhasker but some important topics are missing in my current notes it is covered that topics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *