Competition Community

अभ्यर्थी संकलन (11 September 2019)

admin Abhiyarthi Sankalan, All

छत्तीसगढ़ समसामयिक

जल शक्ति अभियान में बालोद 8वें, रायपुर 25वें स्थान पर

केंद्र सरकार के जल शक्ति अभियान में शामिल छत्तीसगढ़ के दोनों जिलों बालोद और रायपुर का पहले महीने में प्रदर्शन बेहतर रहा है। इस अभियान में जल संकट से जूझ रहे देश के 254 जिलों को शामिल किया गया है। एक जुलाई से शुरू हुए इस अभियान में राज्य के बालोद जिले ने 59.26 फीसद अंक हासिल कर 8वां स्थान प्राप्त किया है। वहीं, 32.74 फीसद अंक के साथ रायपुर 25वें स्थान पर है। अफसरों ने बताया कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य जल संरक्षण के लाभों के बारे में जागरुकता पैदा करना और जल संसाधनों की कमी व भारत में हर घर में नल का पानी उपलब्ध कराना है।

वहीँ जल शक्ति अभियान में झारखंड का धनबाद जल संरक्षण और वर्षा जल संरक्षण के लिए रिकार्ड पाैधरोपण कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-नेपाल पाइपलाइन का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 सितम्बर 2019 को भारत-नेपाल पेट्रोलियम उत्पाद पाइपलाइन का उद्घाटन किया. यह पाइपलाइन नेपाल के अमलेखगंज से बिहार के मोतिहारी के बीच बिछाई गई है. पीएम मोदी ने नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा इस पाइपलाइन का उद्घाटन किया.

यह दक्षिण एशिया की पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन है. फिलहाल भारत तथा नेपाल के बीच पेट्रोलियम उत्‍पादों का ट्रांसपोर्ट साल 1973 में बनाए गए नियमों के आधार पर ही हो रहा है.

Prime Minister Narendra Modi inaugurates India-Nepal pipeline

बैन होगा सिंगल यूज प्लास्टिक

केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने पेप्सी, कोका कोला समेत कई दर्जन कंपनियों से तीन दिन में पैकेजिंग की वैकल्पिक सामग्री का सुझाव देने का निर्देश दिया है. भारत में 2 अक्टूबर 2019 से सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा.

रामविलास पासवान ने पीने के पानी की प्लास्टिक बोतलों पर रोक लगाने के उपायों पर विचार करने हेतु संबंधित मंत्रालयों के अफसरों व निर्माता कंपनियों की बैठक बुलाई थी. उन्होंने कहा की पर्यावरण को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाने में प्लास्टिक की भूमिका सबसे ज्यादा है. इसके अतिरिक्त मानव तथा मवेशियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक साबित हो रहा है.

अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन ‘आँगन’

9 सितम्बर को नई दिल्ली में तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन ‘आँगन’ शुरू हुआ, यह सम्मेलन भवनों में उर्जा दक्षता से सम्बंधित है। इस सम्मेलन का आयोजन उर्जा दक्षता ब्यूरो द्वारा किया जा रहा है। इस सम्मेलन में 16 देशों के विशेषज्ञ तथा नीति निर्माता हिस्सा ले रहे हैं।

You May Also Like..

आरबीआई ने रेपो रेट को अपरिवर्तित 5.15% रखा

अभ्यर्थी संकलन (06 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 451.7 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा 3 दिसम्बर को समाप्त हुए […]

अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस

अभ्यर्थी संकलन (04 December 2019)

छत्तीसगढ़ समसामयिक छत्तीसगढ़ के गरीबी दर में 2.1 फीसदी की बढ़ोतरी एनएसओ (NSO) के सर्वे अध्ययन के अनुसार साल 2011-12 […]

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित

अभ्यर्थी संकलन (03 December 2019)

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय समसामयिक इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट निषेध विधेयक-2019 पारित संसद ने 02 दिसंबर 2019 को इलेक्‍ट्रानिक सिगरेट निषेध विधेयक- 2019 पारित कर […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *